बलरामपुर कलेक्टर ने दी जिलेवासियों को धनतेरस, दिपावली,भाई दूज एवं छठ की शुभकामनाएं

कार्यालय कलेक्टर एवं जिलादंडाधिकारी, बलरामपुर-रामानुजगंज(छत्तीसगढ़)

-ःःअपीलःःः-
मेरे प्यारे जिलेवासियों
आप सभी को दीपावली की हार्दिक शुभकामनांए। जिले के सभी क्षेत्र में कोविड-19 संक्रमण की पहचान के लिए तेजी से टेस्ट किये जा रहे हैं। वर्तमान में जिले में संक्रमण के फैलाव की स्थिति कुछ हद तक नियंत्रण में है, जिले में संक्रमित व्यक्तियों के इलाज के लिए कुल 484-बिस्तरीय अस्पतालों की व्यवस्था अलग-अलग तहसील में की जा चुकी है। कोविड-19 के इस संक्रमण काल में त्यौहारों की अग्रिम कड़ी में हम धनतेरस, दिपावली, भाई दूज एवं छठ पूजा मनाने जा रहे हैं। हमें इन त्यौहारों में भी पूर्व की भांति ही संयम का परिचय देना होगा। शासन द्वारा समय-समय पर विभिन्न त्यौहारों को मनाने हेतु दिशा-निर्देश जारी किये जाते हैं। उक्त निर्देशों के अनुरूप ही हमें रौशनी के इस त्यौहार को भी कोविड अनुरूप व्यवहारों के साथ मनाना होगा। त्यौहारों के समय भी हमें सुरक्षा को प्राथमिकता देनी होगी। त्यौहारों में की गई लापरवाही हमें एवं हमारे प्रियजनों हेतु महंगी पड़ सकती है। यदि आपको कोविड-19 होता है तो पहले तीन दिन में यह आप से अन्य लोगों में फैलने की अधिक संभावना होती है, क्योंकि वायरस आपके शरीर में उच्चतम स्तर पर होता है। अतः त्यौहारों की खरीददारी के समय सावधानी बरतें, हैण्ड सेनेटाईजर सदैव साथ रखें, भीड़ में खरीददारी न करें, मास्क हमेशा एवं सही तरीके से पहने, बच्चे एवं बुजूर्गों को बाजार ले जाने से बचें। मिठाई खाने से पहले हाथ अवश्य धोएं विशेष कर बच्चों में यह आदत परिवर्तन अवश्य लाएं। स्वदेशी सामग्रियों का उपयोग करें, मिट्टी के दिये जलाएं एवं अन्य लोगों को भी प्रेरित करें। कोशिश करें कि अधिक से अधिक सामग्री स्थानीय निर्मित हो जिससे हमारे साथ समाज का हर वर्ग खुशी से दिपावली का त्यौहार मना सके। ये दिपावली परिवार के साथ मनांऐ, उचित दूरी बनाकर एक दूसरे का अभिवादन करें, दोस्तों एवं परिजनों को ऑनलाइन शुभकामनाएं देवें। कम प्रदूषण एवं कम ध्वनी वाले पटाखों का ही उपयोग करें एवं यह उपयोग भी कम करें। क्योंकि वायु प्रदूषण बढ़ने के कारण कोविड-19 वायरस के घातक रूप एवं रोगियों कि संख्या बढ़ने की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता।

मेरी आशा एवं विश्वास है कि हम कोविड-अनुरूप व्यवहार एवं नियमों का पालन करेंगे ताकि हम आगे जाते हुए इस महामारी में जो नियंत्रण पाया है उसको और बेहतर कर सकेंगे।

आपका
श्याम धावड़े
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी
बलरामपुर-रामानुजगंज