बलरामपुर जिले की ख़बरे : ख़बर क्रमांक 01 व 02 देखें विस्तार से

ख़बर क्रमांक – 01

समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर ने अधिकारियों को दिए निर्देशगिरदावरी कार्य शत्-प्रतिशत त्रूटिरहित करें-कलेक्टर 

बलरामपुर 18 अगस्त 2020/ साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर श्री श्याम धावड़े ने गिरदावरी के कार्यों को शत्-प्रतिशत त्रुटिरहित एवं समय-सीमा पर पूर्ण करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये। उन्होंने बैठक में हाईकोर्ट में लंबित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए सभी विभागीय अधिकारियांे को 15 दिवसीय के अंदर जवाब-दावा प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।


संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर श्री श्याम धावड़े ने बताया कि राज्य शासन के निर्देशानुसार गिरदावरी का कार्य 01 अगस्त से 20 सितम्बर तक किया जाना है। उन्होंने सर्व अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को गिरदावरी के कार्यों को शत्-प्रतिशत त्रुटिरहित एवं समय-सीमा पर पूर्ण करने के निर्देश दिये तथा इस कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियांे/कर्मचारियांे के विरूद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्यवाही करने को कहा। कलेक्टर ने सर्व विभाग प्रमुखों से हाईकोर्ट में लंबित प्रकरणों का जवाब-दावा 15 दिवस के अंदर प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि विधानसभा सत्र 25 से 28 अगस्त तक चलेगा। अतः  सर्व विभाग प्रमुख अपने-अपने विभाग से संबंधित विधानसभा प्रश्न का उत्तर शीघ्र भेजें। कलेक्टर ने अम्बिकापुर से अप-डाउन करने वाले अधिकारियों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्यालय में रहकर कार्य करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने वन अधिकार पट्टा वितरण की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी संबंधित अधिकारी शीघ्र अनुविभाग स्तरीय वन अधिकार पत्र हेतु ग्राम समिति की बैठक कर दस्तावेजों को अच्छी तरह जांच कर कार्यवाही पूर्ण करने को कहा। उन्हांेने विशेष पिछड़ी जनजाति पण्डो, पहाड़ी कोरवा जो भूमिहीन हैं, ऐसे हितग्राहियों के प्रकरणों को सर्वोच्च प्राथमिकता से निराकरण करने के निर्देश दिये।
कलेक्टर श्री धावडे़ ने जिले में खाद के भण्डारण एवं वितरण की जानकारी संबंधित अधिकारी से ली। जिला विपणन अधिकारी ने बताया कि जिले में यूरिया एवं अन्य खाद का पर्याप्त भण्डारण हो गया है। कलेक्टर ने सहायक पंजीयक सहकारिता को निर्देश दिये कि किसानों के साथ किसी प्रकार का भेद-भाव नहीं होना चाहिए एवं सभी को समय पर खाद मिलना चाहिए। उन्हांेने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी से कोविड-19 संक्रमण की स्थिति के संबंध में जानकारी ली तथा कोविड केयर सेंटर आरागाही एवं शंकरगढ़ में विद्युत व्यवस्था ठीक करने के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारी को दिये। बैठक में कलेक्टर ने गोधन न्याय योजना के कार्यों के प्रगति की जानकारी ली। डिप्टी कलेक्टर एवं अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रवेश पैकरा ने बताया कि जिले में 02 अगस्त से 15 अगस्त तक की स्थिति में 1362 पंजीकृत हितग्राहियों से 2575.1 क्विंटल गोबर क्रय किया गया है, जिसका भुगतान 20 अगस्त को किया जायेगा। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हरीश एस0 ने सर्व जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों से गोठान प्रबंध समीति का गठन शीघ्र करने के निर्देश दिये।
बैठक में अपर कलेक्टर श्री विजय कुमार कुजूर, सर्व अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सहित समस्त जिला कार्यालय प्रमुख उपस्थित थे।

ख़बर क्रमांक – 02

गोधन न्याय योजना02 से 15 अगस्त तक खरीदे गये गोबर की राशि का भुगतान 20 अगस्त कोपशुपालकों को किया जाएगा 05 लाख 15 हजार रूपये का भुगतान

बलरामपुर 18 अगस्त 2020/ गोधन न्याय योजना से जिले के पशुपालकों को दूध के अलावा अब गोबर से भी नगद आमदनी मिलने लगी है। जिले में 02 अगस्त से 15 अगस्त तक खरीदे गये 2575.1 क्विंटल गोबर की राशि का भुगतान 20 अगस्त को किया जायेगा।
बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के 05 नगरीय निकायों और 06 विकासखण्डों के ग्रामीण क्षेत्रों के 71 गौठानों में कुल 1362 पशुपालकों ने पंजीयन करवाया है। राज्य सरकार ने प्राथमिकता के साथ पशुपालकों को प्रोत्साहित करने के लिए 02 अगस्त से 15 अगस्त तक खरीदे गए गोबर की राशि का भुगतान पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गांधी के जन्म दिवस के अवसर पर 20 अगस्त को किया जायेगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के 05 नगरीय निकायों के 134 पशुपालकों ने गोबर विक्रय के लिए संबंधित गौठानों में पंजीयन करवाया है। नगरीय निकायों के गौठानों में 02 अगस्त से 15 अगस्त तक पंजीकृत पशुपालकों से 108.51 क्विंटल गोबर की खरीदी की गई है। जिसका मूल्य 21 हजार 702 रूपये है। इसी प्रकार 06 जनपद पंचायतों में गोबर खरीदी के लिए 88 गौठानों का पंजीयन किया गया है, जिसमें से 71 गौठानों में गोबर की खरीदी प्रारंभ हो गई है। ग्राम पंचायत के गौठानों में 02 अगस्त से 15 अगस्त तक 04 लाख 93 हजार 318 रूपये की 2466.59 क्विंटल गोबर की खरीदी की गई है। खरीदी किये गये गोबर की राशि का भुगतान ऑनलाइन के माध्यम से गोबर विक्रेताओं के बैंक खाते में सीधे किया जायेगा।