स्कूलों की बेहतर मॉनिटरिंग के लिए प्रत्येक स्कूल में नोडल अधिकारी नियुक्त करें – कलेक्टर साप्ताहिक समय- सीमा की बैठक सम्पन्न

अम्बिकापुर 28 जुलाई 2021/कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा ने बुधवार को यहाँ कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित साप्ताहिक समय सीमा की बैठक में विभागीय कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने आगामी 2 अगस्त से पुनः शुरू हो रहे स्कूलों में शासन के निर्देशों का  समुचित अनुपालन सनिश्चित करते हुए स्कूल संचालन हेतु प्रत्येक स्कूल में एक एक नोडल अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने कहा कि नोडल अधिकारी स्कूल के ही किसी व्याख्याता या अन्य विभाग के जिला अधिकारी को बनाये। संबंधित स्कूल के नोडल अधिकारी स्कूल खुलने से पहले की सभी तैयारियों जैसे साफ सफाई, सेनिटाइजेशन, हैंडवाश की व्यवस्था, कोरोना से बचाव संबंधी पोस्टर चस्पा इत्यादि सनिश्चित करेंगे। स्कूल खुलने के दिन से प्रतिदिन स्कूल में उपस्थित रहकर निर्देशो का अनुपालन सनिश्चित करेंगे। उन्होंने सभी सडीएम एवं तहसीलदारों को भी 2 अगस्त को स्कूलों का भ्रमण कर व्यवस्थओं पर नजर रखने कहा। प्रतिदिन केवल 50 फीसदी बच्चो की उपस्थिति हो।
कलेक्टर ने जिले में खरीफ सीजन में  धान के कुल  क्षेत्राच्छादन तथा अब तक बोए  गए क्षेत्र की समीक्षा करते हुए कहा कि किसानों को आसानी से खाद उपलब्ध कराए। उन्होंने मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना तथा राजीव गांधी किसान न्याय ईंजन के तहत गैर धान की खेती के लिए किसानी को प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए। कृषि विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस खरीफ सीजन में धान की खेती के लिए करीब 98 हजार हेक्टयर क्षेत्राच्छादन का लक्ष्य है जिसके विरुद्ध अब तक करीब 37 हजार हेक्टेयर में धान की रोपाई हो गई है। केलक्टर ने ग्रामीण  कृषि विस्तार अधिकारियो को सहकारी समितियो में उपस्थित रहकर किसानों को वर्मी खाद के फायदे  बताने तथा गैर धान की खेती के लिए प्रोत्साहित करने कहा।

रुखपुर में तैयार होगी  नेपियर नर्सरी- कलेक्टर ने नेपियर घास के लिए जिले को आत्मनिर्भर बनाने के लिए रुखपुर में 10 एकड़ क्षेत्र में नेपियर नर्सरी तैयार करने के निर्देश पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियो को दिए। उन्होंने कहा कि  इस नर्सरी से तैयार नेपियर रूट को आवश्यकतनुसार जिले के गोठानो में लगाई जाएगी तथा मांग के अनुसार अन्य जिलों में भी पूर्ति की जाएगी।
माइक्रो फाइनैंस कंपनियों की सत्यता जांचने बनेगी समिति- कलेक्टर ने  जिले में संचालित विभिन्न माइक्रो फाइनेंस कंपनियों की सत्यता की जांच के लिए एससडीएम, अग्रणी बैंक प्रबंधक, जिला कोषालय अधिकारी एवं बिहान के अधिकारियो  की समिति गठित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि समूह की ग्रामीण क्षेत्रो में समूह की महिलाएं इन कंपनियों के चंगुल में फंसकर अधिक दर पर व्याज चुकाने बाध्य हो रही है। कंपनी की सत्यता की सही जानकारी नही होने पर समुचित कार्यवाही नही हो पाती। उन्होंने अग्रणी बैंक प्रबंधक को ग्रामीण क्षेत्रो से माइक्रो फाइनेंस कंपनियों को चिन्हांकित कर सूची तैयार करने निर्देशित किया।
बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री विनय कुमार लंगेह, अपर कलेक्टर श्री ए.एल. ध्रुव, श्रीमती तनुजा सलाम, सुश्री संतन देवी जांगडे, एसडीएम, तहसीलदार, जनपद सीईओ सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे।