Home छत्तीसगढ़ कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु वरिष्ठ नागरिको के लिए दिशा-निर्देश : सफाई,...

कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु वरिष्ठ नागरिको के लिए दिशा-निर्देश : सफाई, दवाई एवं कड़ाई के साथ सुरक्षात्मक उपायों का पालन करने की सलाह

समाज कल्याण विभाग ने   दिशा- निर्देश किये जारी

रायपुर, 08 मई 2021 / कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु राज्य शासन के समाज कल्याण विभाग द्वारा कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु 60 वर्ष अथवा उससे अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों, विशेष कर चिकित्सा जटिलताओं वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए दिशा-निर्देश जारी किया गया है। 

जारी दिशा-निर्देश में उल्लेखित है कि वरिष्ठ नागरिक हमेशा घर पर ही रहें, घर पर आने वाले आगंतुकों से मिलने से बचें, यदि मिलना आवश्यक हो तो 2 गज (लगभग 2 मीटर) का फासला रखें, यदि अकेले हों तो आवश्यक घरेलू कार्य हेतु स्वस्थ पड़ोसी पर निर्भर रह सकते हैं। किसी भी स्थिति में छोटे-बड़े समारोहों से बचें, घर के अन्दर सक्रिय रूप से चलते-फिरते रहें, घर में हल्के व्यायाम एवं योग करें, नियमित ध्यान (मेडिटेशन) लगाएं, हाथ धोकर स्वच्छता बनाएं रखें, विशेषकर भोजन से पहले एवं वाशरूम जाने के बाद कम से कम 20 सेकण्ड तक साबुन या हैण्डवाश से हाथ धोना चाहिए। बार-बार स्पर्श किए जाने वाली वस्तुओं जैसे चश्मा आदि को कीटाणुनाशक से नियमित साफ करें, छींक अथवा खांसी के समय कोहनी सामने रखें, टीशू पेपर या रूमाल का इस्तेमाल करें एवं उपयोग पश्चात् टीशू पेपर को डस्टबीन में डाले तथा रूमाल को साफ कर लें व हाथ धो लें। 

    घर का बना ताजा गर्म भोजन ग्रहण कर उचित पोषण आहार सुनिश्चित करें, इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ताजा जूस लें तथा बार-बार पानी पीयें, अपनी दैनिक निर्धारित दवाएं नियमित लें, अपनी स्वास्थ्य का नियमित निगरानी रखें यदि सर्दी, खांसी, बुखार या श्वसन संबंधी कोई समस्या आती है तो त्वरित समीपस्थ स्वास्थ्य केन्द्र से सम्पर्क करें, अपने पारिवारिक सदस्य जो आपके साथ नहीं है उनसे बात करें, दोस्तों, रिश्तेदारों के सम्पर्क में रहें एवं आवश्यकता पड़ने पर मदद लें, कोई वैकल्पिक शल्य चिकित्सा (सर्जरी) हो तो उसे यथासंभव स्थगित करें। 

कोरोना वायरस के लक्षण (सर्दी, खांसी एवं बुखार) प्रदर्शित करने वाले व्यक्ति के समीप न जाएं,  हाथ न मिलाएं एवं गले न मिलें, भीड़-भाड़ वाले स्थानों जैसे- पार्क, बाजार एवं धार्मिक स्थलों पर जाने से बचें, खुले हाथों में खासी या छींक न करें, आंख, चेहरे, नाक एवं जीभ को बार-बार न छुएं, स्वयं इलाज न करें, अति आवश्यक न हो तो बाहर न जाएं, पारिवारिक सदस्यों एवं दोस्तों को आमंत्रित न करें, रूटीन चेकअप या फालोअप के लिए अस्पताल न जाएं, आवश्यक हो तो अपने चिकित्सक से टेलीफोनिक सहायता लें, ग्रर्मियों में निर्जलीकरण से बचें और पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करें।  

    *आश्रित वरिष्ठ नागरिकों की देखभाल करने वालों के लिए सलाह -* वरिष्ठ नागरिकों की सहायता करने से पहले अपना हाथ धो लें, वरिष्ठ नागरिकों को सहायता करते समय अपना मुंह एवं नाक अच्छे से ढंक ले, प्रायः इस्तेमाल करने वाले सतहों को नियमित साफ करें, जैसे चश्मे, वाकर, व्हील चेयर, वाकिंग केन, शयनकक्ष आदि, वरिष्ठ नागरिकों की सहायता करें एवं उन्हें हाथ धोने में उनकी मदद करें, वरिष्ठ नागरिकों के लिए उचित भोजन एवं पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करें, वरिष्ठ नागरिकों के स्वास्थ्य पर नजर रखें, बुखार, बदन दर्द के साथ सर्दी, लगातार खांसी, सांस की तकलीफ, असामान्य भूख या खाने में असमर्थता के लक्षण परिलक्षित होने पर हेल्फ लाईन से संपर्क करें, सर्दी-खासी या बुखार हो तो वरिष्ठ नागरिक के समीप न जाएं, वरिष्ठ नागरिकों को पूरी तरह से बिस्तर पर ही न रखें, बिना हाथ साफ किये वरिष्ठ नागरिकों को न छूने की सलाह दी गई है।  

    *वरिष्ठ नागरिकों के लिए सलाह -* घर में रिश्तेदारों से संवाद करें, सामाजिक दूरी का पालन करते हुए पड़ोसियों से संवाद करें, लोगों को इकट्ठा करने से बचें, शांतिपूर्ण वातावरण निर्मित करें, पुराने शौक संगीत सुनना, पेंटिंग या पढ़ने में समय व्यतीत करें, विश्वसनीय स्त्रोत से प्राप्त जानकारियों पर ही विश्वास करें एवं उपयोग करें, यदि मानसिक बीमारी परिलक्षित होती है तो हेल्प लाइन (08046110007) पर कॉल करें, खुद को अलग न करें, अपने आपको को कमरे में कैद न करें, किसी सनसनीखेज खबर या सोशल मीडिया पोस्ट को फालो न करें, कोई असत्यापित जानकारी को साझा न करें, अकेलेपन दूर करने के लिए तंबाकू,या अन्य मादक पदार्थों का सेवन न करें। 
जारी दिशा-निर्देश में मानसिक स्थिति में परिवर्तन जैसे दिन में अत्यधिक सुस्ती, जवाब न देना या अनुपयुक्त तरीके से जवाब देना, रिश्तेदारों को पहचानने में असमर्थता की स्थिति में हेल्प लाईन से संपर्क करने की सलाह दी गई है। 

*मास्क, फेस शील्ड के सही उपयोग हेतु मार्गदर्शन* – मास्क लगाने से पहले हाथ की सफाई करें, क्षतिग्रस्त मास्क का उपयोग न करें, मास्क पहनने की स्थिति में मास्क को छूने से बचें, यदि गलती से छू भी लें तो हाथ की सफाई करें, मास्क नाक के ऊपर से ठोढ़ी तक तथा मुंह के दोनों तरफ के गालों को ढकना चाहिए। मास्क को उपयुक्त तकनीक से हटाएं, मास्क के सामने वाले भाग को स्पर्श न करें बल्कि पीछे से निकालें, मास्क में नमी होते ही नये साफ एवं सूखे मास्क से बदल लें, मास्क हटाते ही तुरंत हाथ की सफाई करें, बात करने के लिए मास्क न हटाएं, अपने मास्क को दूसरे के साथ साझा न करें, कपड़े के मास्क को दिन में कम से कम एक बार गर्म पानी से धोएं, फेस शील्ड (चेहरे की ढाल) को सिर्फ आंखों की सुरक्षा के लिए ही मानक समझें, उसे मास्क के समकक्ष मानते हुए श्वसन बूंद के सुरक्षा के लिए नियंत्रण तंत्र न समझें, फेस शील्ड (चेहरे की ढाल) को मेडिकल मास्क या रेस्पिरेटर के साथ उपयोग सुनिश्चित करने की सलाह दी गई है।