स्वास्थ्य मंत्री होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के पास कॉल कर ले रहे है उनकी सेहत की जानकारी

अम्बिकापुर 08 मई2021 /अम्बिकापुर विधानसभा क्षेत्र के हर कोरोना मरीज जो कि होम आइसोलेशन में है और घर पर ही चिकित्सकों से परामर्श कर स्वास्थ्य लाभ ले रहा है, उन्हें सही सलाह मिल रही है कि नहीं, स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से समय-समय पर कॉल कर जानकारी ली जा रही है या नहीं, किसी चीज की कमी है अथवा कोई परेशानी इसकी चिंता क्षेत्र के विधायक और प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंह देव स्वयं कर रहे हैं। टी.एस. बाबा के बीएसएनएल मोबाईल नम्बर 9425254054 से होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के पास कॉल आ रहा है और टी.एस. बाबा के ऑफिस स्टॉफ बकायदे लोगों से कोरोना के दौरान चल रहे ईलाज की पूरी जानकारी ले रहे हैं। ऑक्सीजन लेबल कैसा है, प्लस रेट कैसा है, पहले की तुलना में अब आपका स्वास्थ्य कैसा है, कोविड सेंटर से कॉल आ रहा है अथवा नहीं कोई परेशानी हो तो बतायें जैसे कई सवाल घर पर रह कर ईलाज करा रहे कोविड मरीजों से पूछ कर उनके बेहतर स्वास्थ्य की कामना के साथ-साथ जरूरी व्यवस्था को ठीक करने का प्रयास किया जा रहा है। कोरोना मरीजों के पास क्षेत्र के विधायक एवं प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के कार्यालय से उनके पर्सनल नम्बर से फोन आने पर लोगों में एक संतुष्टि है कि कम से कम कोई हमारी परेशानी के इस समय में हमारे साथ है, हमारी परेशानी जान रहा है।
इस दौरान कई ऐसे भी मरीज हैं जो कॉल रिसीव नहीं कर रहे ऐसे मरीजों को दूसरे दिन, तीसरे दिन पुनः फोन कर उनका हालचाल लिया जा रहा है, होमाइशोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों के पास आ रहे इस फोन से कई अहम जानकारी भी मिल रही है, जैसे उनके परिवार में अथवा पड़ोस में कोरोना को लेकर क्या स्थिति है, लोग कोविड जांच एवं वेक्सिनेशन करा रहे हैं अथवा नहीं। इस तरह के कई जानकारी लोग इस कॉल के माध्यम से दे रहे हैं साथ ही ईलाज की व्यवस्था और कॉल सेंटर से आने वाले कॉल एवं अन्य बातों को लेकर सुझाव भी दे रहे हैं। 25 अप्रैल से शुरू हुई यह कॉल के माध्यम से कोविड मरीजों के हालचाल लेने की प्रक्रिया प्रतिदिन चल रही है, जिसमें रोजाना 300 कॉल किये जाते हैं। जो मरीज कॉल रिसीव नहीं करते उन्हें दूसरे दिन, तीसरे दिन पुनः कॉल कर उनका हाल जाना जाता है। अम्बिकापुर, उदयपुर एवं लखनपुर ब्लॉक के वे कोरोना मरीज जो होमाइशोलेशन में हैं, उन तक कॉल के माध्यम से निरंतर बात किया जा रहा है।