LPG गैस से मिलने वाली सब्सिडी आपके खाते में जमा हो रही है या नही,घर बैठे इस तरह करें चेक़

HDNW 23 नवम्बर 2020 / गैस सिलेंडर पर ग्राहकों को मिलने वाली सब्सिडी की राशि कई बार देर से खाते में आती है। कई बार सब्सिडी का पैसा गलत खाते में पहुंच जाने के मामले भी सामने आए हैं। अगर आपके अकाउंट में सब्सिडी का पैसा नहीं आया है, तो आप इसकी जानकारी घर बैठे ले सकते हैं। कई ग्राहकों की शिकायत भी रहती है कि उनके खाते में सब्सिडी की राशि जमा नहीं हो पा रही है या किसी और खाते में जा रही है। इस समस्या का समाधान बहुत आसान है। सरकार ने व्यवस्था की है कि लोग घर बैठे अपने मोबाइल से पता लगा सकते हैं कि उनके खाते में सब्सिडी की रकम जमा हुआ है या नहीं और हां, तो कितने रुपए जमा हुए।

जानिए इसका तरीका :-

LPG सब्सिडी की स्थिति जानने के लिए इन चरणों का पालन करें

ऑनलाइन सब्सिडी स्टेटस चेक करने के लिए आपको सबसे पहले Mylpg.in वेबसाइट पर जाएं। यहां तीनों पेट्रोलियम कंपनियों (एचपी, भारत और इंडेन) के लोगो वाले टैब दिखाई देंगे। अपनी सिलेंडर की कंपनी पर क्लिक करें।

नया पेज खुलेगा, जिस पर बार मेन्यू में जाएं और अपना 17 अंकों का LPG ID दर्ज करें। यदि LPG ID पता नहीं है, तो ‘Click here to know your LPG ID’ पर क्लिक कर वहां बताए गए चरण पूरे कर इसका पता लगाया जा सकता है।

यहां अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर, LPG उपभोक्ता आईडी, राज्य का नाम, वितरक की जानकारी दर्ज करें। कैप्चाकोड दर्ज करने के बाद प्रोसेस बटन पर क्लिक करें। जो नया पेज खुलेगा, उस पर आपका LPG ID साफ़ दिखाई देना चाहिए।

एक पॉप-अप पर आपके खाते का विवरण दिखाना देखा। यहां बताया जाएगा कि आपका बैंक खाता और आधार आपके एलपीजी खाते से लिंक हैं या नहीं। साथ ही यह जानकारी भी मिलेगी कि आपने सब्सिडी का विकल्प छोड़ दिया है या नहीं।

पेज के बाईं ओर ‘सिलेण्डर बुकिंग हिस्ट्री / सब्सिडी ट्रांसफर देखें’ पर क्लिक करें। यहां आप सब्सिडी राशि देख पाएंगे। यहां पिछले महीनों में बुलाए गए सिलेंडर और उनके ऐवज में आपका खाते में जमा हुई सब्सिडी की राशि भी दिखाई देगी।इस तरह रसोई गैस सब्सिडी बैंक खाते में जमा हुई है या नहीं, इसका पता लगाने के लिए परेशान होने या बैंक जाने की जरूरत नहीं है। इसे आप अपने मोबाइल से घर बैठे पता लगा सकते हैं। ध्यान रहे, एक बार लॉगिन की प्रोसेस पूरी करने के बाद अगली बार सब्सिडी का पता लगाना आसान हो जाता है।